Investment

Share capital in Hindi | Share capital कितने प्रकार के होते है

Share capital in Hindi जैसे सवालों से हर वो व्यक्ति परेशांन रहता है जो Share Capital में पहली बार निवेश करने जा रहा है लेकिन धीरे धीरे सभी लोग सीख जाते है अगर आप भी परेशान है और जानना चाहते है कि Share capital क्या है तो इस पोस्ट में मै आपके सभी परेशानियों का हल लाया हु | अगर आप किसी कम्पनी मे निवेश करना चाहते है या कोई कम्पनी सुरु करना चाहते है तो Meaning of Share capital in Hindi इसे समझाना आपके किये सबसे अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है |

अगर आप शेयर कैपिटल क्या है एक बार अच्छे से समझ गए तो शेयर मार्केट में निवेश करना आपके लिए बहुत ही आसन हो जायेगा और आप Share में Invest करके पैसे भी कम सकते है | Share आपके लिए क्या कर सकता है इसका अन्दाजा आप इस बात से लगा सकते है कि Warren Buffett जो दुनिया के सबसे अमीर लोगो में शामिल है Share Market में ही Deal करते है |

Share capital क्या है

आपको पता होगा की कंपनियों को अपना काम काज चलने और प्रगति करने के लिए पैसे की जरुरत होती है | तो इस परिस्थिति में कम्पनी पैसे जुटाने के लिए अपना हिस्सा बेचती है | कम्पनी का हिस्सा छोटे छोटे भागो में बटा होता है | इसका एक मूल्य (face value) होता है | Face Value शेयर के प्रमाण पत्र पर लिखा होता है और यह वैल्यू कम्पनी के निर्माण के वक्त निश्चित की जाती है | Share Capital वह पैसा है जो की कम्पनी अपने शेयर बेचकर जुटाती है |

what is share in Hindi इसे समझने के लिये हम एक ही उदहारण को सभी जगह उपयोग में लायेंगे ताकि आप सभी प्रकार के Share Capital (अंशपूंजी) की आपस में आसानी से तुलना कर पायें |

Authorised Share capital in Hindi

Authorised Share capital का दूसरा नाम Normal Capital और तीसरा नाम होता है Registered Capital होता है | यह वह कैपिटल होती है जो कि कोई कंपनी जारी कर सकती है | Authorised Share कैपिटल की जानकारी हमें कंपनी के पार्षद सीमा नियम के अंतर्गत Capital Clause में मिलता है | पार्षद सीमा को कंपनी का चार्टर भी कहा जाता है |

कोई भी कंपनी Authorised Share capital से अधिक शेयर जारी नहीं कर सकती हैं और अगर कोई कंपनी इससे अधिक शेयर जारी करना चाहती है तो उसे सबसे पहले कंपनी के साधारण सभा में विशेष प्रस्ताव पारित करके कंपनी के पार्षद सीमा नियम में परिवर्तन करना होगा |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी ऑथराइज्ड शेयर कैपिटल 10,00,000 है जो 10 रुपये वाले 1,00,000 शेयर में विभाजित है तो कम्पनी की Authorised capital 10,00,000 मानी जाएगी |

types of share capital in Hindi
Share capital in Hindi

इसे भी पढ़ें

Share Market क्या है

Business kya hai

Affiliate marketing क्या है

Issued share capital

यह Authorised capital का वह हिस्सा जो पैसे इकट्ठे करने के उद्देश्य से कंपनी द्वारा जनता को आमंत्रित किया जाता है Issued Share capital कहलाता है | अधिकतर परिस्थितियों में कम्पनी एक बार में अपने कुछ ही शेयर जारी करती है हालांकि कभी कभी यह संभव है कि कंपनी द्वारा सभी Issued Share जनता द्वारा खरीद लिए जाए या यह भी संभव है की यह Share जनता द्वारा ना खरीदा जाए |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी Authorised capital 10,00,000 है जो 10 रुपये वाले 1,00,000 शेयर में विभाजित है | इसमें से कम्पनी ने 10000 शेयर जिसकी कीमत 10 रुपये प्रति शेयर है, को खरीदने के लिए जनता को आमंत्रित करती है | अतः इस कम्पनी की Issued Share capital, 1,00,000 होगी |

Subscribed share capital

यह Subscribed share capital वह भाग है (Amount of Capital) जिसे निवेशक Subscribe करते है | इसके लिए Share खरीदने वाले लोग कम्पनी को पैसे देते है | अधिकतर परिस्थितियों में निवेशक उतने ही शेयर के लिए आवेदन देते है जितने कम्पनी issue करना चाहती है पर कुछ परिस्थितियों में उससे कम या ज्यादा खरीदने के लिए भी आवेदन आ जाता है |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी ऑथराइज्ड शेयर कैपिटल 10,00,000 है, इसमें से कम्पनी ने 10000 अंश को खरीदने के लिए निवेशकों को आमंत्रित करती है और सभी share निवेशकों द्वारा खरीद लिए जाते है अतः उस कम्पनी की सब्सक्राइब शेयर कैपिटल 1,00,000 होगी |

हालाँकि यह जरुरी नहीं है कि हर बार कम्पनी द्वारा निर्गमित सभी शेयर जनता द्वारा Subscribe कर लिए जायें | Subscribed capital के दो भाग होते हैं Over-subscribe और Under-subscribe |

Over-subscribe Share capital

जनता द्वारा subscribed शेयर कैपिटल, कंपनी के द्वारा निर्गमित शेयर कैपिटल से अधिक हो जाता है तो उसे Over-subscribe Share capital कहते हैं |

क्योंकि किसी भी परिस्थिति में सब्सक्राइब शेयर कैपिटल, निर्गमित अंशपूंजी से अधिक नहीं हो सकता है इसलिए Over-subscrription के रकम को कंपनी द्वारा Over-subscribeको वापस लौटा दिया जाता है |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी ऑथराइज्ड कैपिटल 10,00,000 है इसमें से कम्पनी ने 10000 शेयर को खरीदने के लिए जनता को आमंत्रित करती है | जबकि कम्पनी को, निवेशकों द्वारा 11,000 शेयर को खरीदने का आवेदन मिलता है अतः 1000 Share, Over-subscrription मानें जायेंगे |

Under subscribe Share capital

अगर किसी परिस्थिति में कंपनी द्वारा Issued सभी शेयर निवेशकों द्वारा सब्सक्राइब नहीं किया जाता हैं तो उसे Under-subscribe capital कहते हैं |

कम्पनी अधिनियम 2013 के अनुसार, शेयर निर्गमन के संबंध में कंपनी को कम से कम निर्गमित अनुसूची का 90% सब्सक्राइब करना होता है अगर कंपनी Issued share capital का 90% सब्सक्राइब नहीं कर पाती है तो कंपनी शेयर का निर्गमन नहीं कर सकती है |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी ऑथराइज्ड कैपिटल 10,00,000 है इसमें से कम्पनी ने 10000 शेयर को खरीदने के लिए निवेशकों को आमंत्रित करती है जबकि कम्पनी को निवेशकों द्वारा केवल 6000 शेयर को खरीदने का ही आवेदन मिलता है | अतः 4000 Share, Under subscrription कहलायेंगे |

Image

Unissued share capital

Authorised Share capital का वह भाग (Amount of Capital) जो कंपनी Issued share capital के अतिरिक्त और निर्गमित कर सकती है Unissued share capital कहलाता है | इसे हम एक फार्मूला से समझ सकते हैं |

Unissued share capital = Authorised Share capital – Issued share capital

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी Authorised capital 10,00,000 है इसमें से कम्पनी ने 10000 शेयर को निवेशकों को बेच देती है इस पतिस्केथिति में 9 लाख share Unissued share capital कहलायेंगे |

Called-up share capital in Hindi

Subscribed share capital का वह हिस्सा (Amount of Capital) जो Shareholder को उन्हें Unissued share पर भुगतान करने के लिए कहा जाता है Called-up capital कहलाता है | अगर Shareholder कंपनी द्वारा मांगी गई रकम का भुगतान नहीं करता है  तो इस कंपनी Shareholder के शेयर को जप्त भी कर सकती है |

Paid-up share capital in Hindi

Called-up capital का वह भाग होता जिसका Shareholder द्वारा कंपनी को भुगतान कर दिया जाता है Paid-up share capital कहलाता है |

दोस्तों अभी तक तो हमने types of Share capital in Hindi ? Share capital कितने प्रकार के होते है ? Share capital का क्या मतलब है के बारे में जाना ? अब हम Share capital से ही सम्बंधित कुछ अन्य चीजो को समझेंगे |

Calls in arrears

Calls in arrear कंपनी द्वारा मांगी गई राशि (Amount of Capital) का वह भाग होता है जो अंशधारियों द्वारा कम्पनी को नहीं चुकाया जाता | इस परिस्थिति में कंपनी को उन अंशधारियों के शेयर को जप्त करने का भी अधिकार होता है |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी ऑथराइज्ड शेयर कैपिटल 10,00,000 है जो 10 रुपये वाले 1,00,000 शेयर में विभाजित है | इसमें से कम्पनी ने 10000 शेयर जिसकी कीमत 10 रुपये प्रति शेयर है, को खरीदने के लिए जनता को आमंत्रित करती है | जिसमे से केवल 9000 शेयर जनता द्वारा ख़रीदे जाते है | कम्पनी इन 9000 शेयर पर 2 और 3 रुपये क्रमशः आवेदन  और subscription मंगवाती है लेकिन एक अंशधारी जिसके पास 400 शेयर थे subscription की राशि नहीं दे पता है |

Calls in advance

Calls in advance कंपनी द्वारा मांगी जा सकने वाली राशि का वह भाग होता है (Amount of Capital) जिसका भुगतान अंशधारी कंपनी द्वारा मांगे जाने से पूर्व ही कर देते हैं | इस प्रकार के पूर्व भुगतान पर अंशधारियों को एक निश्चित दर से ब्याज लेने का भी अधिकार होता है |

उदहारण : XYZ कम्पनी जिसकी ऑथराइज्ड शेयर कैपिटल 10,00,000 है जो 10 रुपये वाले 1,00,000 शेयर में विभाजित है | इसमें से कम्पनी ने 10000 शेयर जिसकी कीमत 10 रुपये प्रति शेयर है, को खरीदने के लिए जनता को आमंत्रित करती है | जिसमे से केवल 9000 शेयर जनता द्वारा ख़रीदे जाते है | कम्पनी इन 9000 शेयर पर 2 और 3 रुपये क्रमशः आवेदन  और subscription मंगवाती है लेकिन एक अंशधारी जिसके पास 400 शेयर थे उसने calles की रकम @ 2 प्रति शेयर भी  subscription की राशि के साथ ही दे देता है |

Reserved Capital

आरक्षित पूंजी कम्पनी के कुल अंश पूंजी का वह भाग होता है जिसे कम्पनी कभी नहीं मांगती है | इस प्रकार की की अंशपूंजी कम्पनी द्वारा केवल कम्पनी के समापन के समय मंगाया जाता है |

समापन

दोस्तों इस पोस्ट में हमने Share capital in hindi, Share capital क्या है, types of share capital in Hindi को विस्तार में समझा | इस के पहले की पोस्ट में हमने Share kya hai शेयर कितने प्रकार के होते हैं को विस्तार में समझा था अगर आप को मेरा पोस्ट पसंद आया हो तो इस पोस्ट के निचे कमेंट जरुर करे और इस पोस्ट को अपने दोस्तों में शेयर जरुर करें |

दोस्तों हम इस वेबसाइट में Business Tips, Money making tips, Business ideas, sarkari yojna, Business motivation आदि से सम्बंधित नए नए और बेहतर Content लाते रहते है | अगर आपको हम पोस्ट पसंद आता हो तो आप हमारे ब्लॉग को subscribe करे |

आप हमे हमारे अन्य Social site पर भी Follow कर सकते है –

Facebook Page – https://www.facebook.com/businessjano/

Pinterest – https://www.pinterest.com/businessjano/

Twitter – https://twitter.com/BusinessJano

What’s your Reaction?
+1
632.2m
+1
28.5m
+1
66
+1
5.9m
+1
25

4 thoughts on “Share capital in Hindi | Share capital कितने प्रकार के होते है

  1. Oh my goodness! Incredible article dude! Thanks, However
    I am encountering problems with your RSS. I don’t understand the reason why I cannot join it.
    Is there anyone else having similar RSS problems?
    Anyone that knows the answer can you kindly respond? Thanx!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *