Mutual Fund kya hai
Investment

Mutual Fund क्या है और इसमें कैसे निवेश करें ?

Mutual Fund kya hai ये बात आपके मन में कभी न कभी जरुर आया होगा | ना केवल आपके मन में बल्कि हर उस व्यक्ति के मन में भी जो अपने पैसे को निवेश करना चाहता है और ये सोचता रहता है की अपने पैसे को कहाँ और कैसे निवेश करें |

Mutual Fund पैसे निवेश करने के लिए एक बेहद बढ़िया जगह है और ऐसा इसलिए की Mutual Fund से आप अच्छा Return पा सकते है और ये निवेश के अन्य तरीको से ज्यादा सुरक्षित भी है | इसी लिए इस पोस्ट में हम जानेंगे की म्यूच्यूअल फण्ड क्या है और म्यूच्यूअल फण्ड में पैसे निवेश करते समय हमें किन किन बातों का ख्याल रखना चाहिए |

हालांकि पिछले कुछ समय में Mutual Fund या Share Market के बारे में कुछ लोगों ने बहुत सारी भ्रान्तिया पैदा कर दी है जिसकी वजह से लोग Mutual Fund में Invest करने से डरते है | यहाँ हम इस भ्रान्ति को भी दुर करने का प्रयास करेंगे ताकि आपको Mutual Fund के बारे में सही जाकारी मिले |

पहले तो हम जल्दी से ये देख ली है कि इस पोस्ट में क्या क्या समझने वाले है

  1. म्यूच्यूअल फण्ड क्या है
  2. Mutual Fund का इतिहास
  3. म्यूच्यूअल फण्ड कितने प्रकार के होते है
  4. Mutual Fund में कैसे निवेश करें
  5. म्यूच्यूअल फण्ड के लाभ क्या हैं
  6. Mutual Fund से जुड़े शब्दों की जानकारी

Mutual Fund kya hai

म्यूच्यूअल फण्ड बहुत सारे निवेशकों द्वारा इकट्ठा किया गया यह फंड है जिसे लाभ कमाने के उद्देश्य से किसी विशेष स्थान पर निवेश किया जाता है | निवेशकों के द्वारा इकठ्ठा किये गए इस Fund को Mutual Fund और जो कंपनियां निवेशकों का पैसा इकट्ठा करने और उसे निवेश करने का काम करती है उन्हे Assets Management Company कहते हैं |

म्यूच्यूअल फण्ड को हम एक उदाहरण से समझते हैं-

अपने कभी न कभी kitty party का नाम जरुर सुना होगा जिसमे कई सारी महिलाये होती है और प्रत्येक महिला हर महीने kitty party के फण्ड में एक निश्चित पैसा डालती है और महीने के अंत में उस इकट्ठे किए हुए पैसे से या तो पार्टी की जाती है या उसे किसी एक महिला को दे दिया जाता है |

ठीक उसी प्रकार से म्यूचुअल फंड में भी कई सारे निवेशकों मिलकर फण्ड इकट्ठा करते है और उसे किसी एक निश्चित कंपनी के शेयर में निवेश करते है और लाभ होने पर उसे निवेशकों में बांट दिया जाता है |

जो कंपनियां निवेशकों का पैसा इकट्ठा करने और उसे निवेश करने का काम करती है आज तो इसी काम के लिए बनाई जाती है इस प्रकार की कंपनियों में जो लोग निवेशकों का पैसा मैनेज करते हैं वो शेयर मार्केट के Expert होते है | और यही कारण है कि फंड में निवेश करना कम जोखिम भरा है |

इसे भी पढ़ें : Demat Account: क्या है, कैसे खोलें, और क्या है लाभ

Mutual Fund का पंजीकरण

सभी प्रकार के म्यूच्यूअल फण्ड को सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) में रजिस्टर्ड होना अनिवार्य है | SEBI वो नियामक संस्था है जो देश में खरीदे और बेचे जाने वाले सभी Share और Mutual Fund को नियंत्रित करता है और सुनिश्चित करता है कि किसी भी निवेशक के साथ कोई धोखाधड़ी ना हो |

म्यूच्यूअल फंड का इतिहास

1. भारत में सन 1963 की शुरुआत की गई थी म्यूच्यूअल फंड की जिसका मुख्य उद्देश्य ऐसे छोटे निवेशकों को लाभ पहुंचाना था जो शेयर बाजार में निवेश खुद नहीं कर सकते थे या जिन्हें शेयर बाजार के बारे में अधिक अनुभव नहीं था |

2. म्यूच्यूअल फंड की शुरुआत यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया के साथ की गई थी और शुरुआत के समय में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा नियंत्रित किया जाता था |

3. 1987 तक म्यूच्यूअल फण्ड Public Sector companies के लिए नहीं खुला था उस समय तक UTI के पास 6700 करोड़ का फण्ड था |

4. 1987 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पब्लिक सेक्टर की कंपनियों को म्यूचुअल फंड में काम करने की अनुमति दिया जिसके बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने सबसे पहला Mutual Fund Scheme बाजार में उतारा |

5. इसके बाद सन् 1993 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने प्राइवेट कंपनियों को म्यूचुअल फंड में काम करने का मौका दिया | इसके पाहले तक केवल सरकारी और पब्लिक सेक्टर की कंपनियों ही म्यूचुअल फंड में काम कर सकती थी |

6. आज के समय में 5 करोड़ से भी ज्यादा लोग म्यूचुअल फंड में पैसे निवेश कर रहे है जिनकी संख्या बहुत ही तेजी से बढ़ रही है |

इसे भी पढ़ें : IPO in Hindi:आईपीओ क्या है ? IPO फुल फॉर्म, IPO में निवेश कैसे करें ?

Image

Mutual Fund kya hota hai

म्यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते है

अभी हमने जाना कि Mutual Fund kya hota hai और इसका इतिहास क्या है अब हमें यह समझना चाहिए की Mutual Fund कितने प्रकार के होते है |

म्यूचुअल फंड को मुख्य रूप से चार भागों में विभाजित किया गया है | यहां हम इन सभी चारों प्रकार के म्युचुअल फंड को एक-एक करके आसान भाषा में समझेंगे |

इक्विटी म्युचुअल फंड (Equity Mutual Fund)

इक्विटी म्युचुअल फंड में निवेशको के पैसे को अलग-अलग कंपनियों के शेयर में निवेश किया जाता है | इस प्रकार के म्यूचुअल फंड में High risk and High Return की संभावना होती है | हालांकि अधिकतर परिस्थितियों में लंबी अवधि में इक्विटी म्युचुअल फंड ज्यादा लाभ देता है | इक्विटी म्युचुअल फंड में निवेशको को कितना लाभ होगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि जिस कंपनी में निवेशको के पैसे निवेश किए गए हैं वह कंपनी कैसा Perform करती है |

डेब्ट म्यूच्यूअल फंड (Debt Mutual Fund)

डेब्ट म्यूचुअल फंड में निवेशकों के पैसे को अलग-अलग कंपनियों के डेब्ट सिक्योरिटी में निवेश किया जाता है | इस प्रकार के म्यूचुअल फंड, इक्विटी म्युचुअल फंड से अधिक सुरक्षित होते हैं लेकिन इनमें Return भी लगभग समान ही होता है | डेब्ट म्यूचुअल फंड कम अवधि के लिए लाभदायक होते हैं और यह बैंकों के Saving bank Account या Fixed Deposit bank Account में पैसे रखने से ज्यादा बेहतर है |

हाइब्रिड म्युचुअल फंड (Hybrid Mutual Fund)

जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है हाइब्रिड म्युचुअल, फंड इक्विटी म्युचुअल फंड डेब्ट म्यूच्यूअल फंड का एक मिश्रण है | इस प्रकार के Mutual Fund Scheme के द्वारा Assets Management Companies कुछ पैसा शेयर में और कुछ पैसा Debt या Loan में इन्वेस्ट करती है |

Debt में निवेश जहाँ निवेशको को सिक्योरिटी देता है वही Share में निवेश ज्यादा लाभ कमाने की संभावनाएं भी खोलता है | Hybrid Mutual Fund में वह लोग निवेश कर सकते हैं जो अपने पैसे के साथ Risk ले सकते हैं हालांकि यह इक्विटी म्युचुअल फंड तो कम ही Risky रिस्की है |

सलूशन ओरिएंटेड म्युचुअल फंड (Solution Oriented In Mutual Fund)

सलूशन ओरिएंटेड म्युचुअल फंड को Debt या Equity के हिसाब से Desine न करने निवेशकों के जरूरतों के हिसाब से Desine किया जाता है और अलग अलग प्रकार के जरुरत के लुइए अलग अलग Mutual Fund Scheme Lonch किये जाते है |

उदहारण के तौर पर Education related Scheme, retirement Scheme या Health Scheme.

समापन

अमीर बनाने के लिए जितना आवश्यक पैसे कमाना है उतना ही आवश्यक अपने पैसे को सही जगह पर Invest करना भी है | यही कारण है की इस पोस्ट में हमने Mutual Fund kya hai, इसके फायदे क्या क्या है और Mutual Fund में निवेश कैसे करे संबधित तथ्यों को समझने का प्रयास किया |

मुझे उम्मीद है की आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा | अगर आपको मेरा ये पोस्ट पसंद आया हो तो हमें कमेंट करके जरुर बताएं |

दोस्तों हम इस वेबसाइट में Business Tips, Money making tips, Business ideas, sarkari yojna, Business motivation आदि से सम्बंधित नए नए और बेहतर Content लाते रहते है | अगर आपको हम पोस्ट पसंद आता हो तो आप हमारे ब्लॉग को subscribe करे |

आप हमे हमारे अन्य Social site पर भी Follow कर सकते है –

Facebook Page – https://www.facebook.com/businessjano/

Pinterest – https://www.pinterest.com/businessjano/

Twitter – https://twitter.com/BusinessJano

Others post:-

RBI Full Form: What Is The Full Form Of RBI

ONGC Full Form: What Is The Full Form Of ONGC

NSDL Full Form: What Is The Full Form Of NSDL

Rate this post
What’s your Reaction?
+1
659k
+1
58.2m
+1
2.6k
+1
754.5k
+1
447

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *