IPO kya hai
Investment

IPO in Hindi:आईपीओ क्या है ? IPO फुल फॉर्म, IPO में निवेश कैसे करें ?

IPO kya hai यह हर उस व्यक्ति को पता होना चाहिए जो Share Market में रूचि रखते है या share मार्केट में invest करना चाहते है | क्या आपने कभी IPO का नाम सुना है ? अगर नहीं तो कोई बात नहीं क्युकी बहुत कम ही लोगों को ये पता है कि IPO क्या है | पैसे कम या ज्यादा सभी कमाते है लेकिन अगर आपको अमीर बनना है तो आपको अपने पैसे सही जगह पर invest करना बहुत ही आवश्यक है | शेयर मार्केट कैसे निवेश करने की बहुत अच्छी जगह है हालांकि कुछ लोग Share Market के नाम से ही डरते है IPO तो दुर की बात है |

शेयर मार्केट में निवेश करके आप पैसे तो कमा सकते है पर उससे पैसे कमाने के लिए आपको शेयर मार्केट से जुडी छोटी बड़ी सभी बातें पता होनी चाहिए | शेयर मार्केट से जुड़ा एक महत्वपूर्ण शब्द है IPO | आज के इस पोस्ट में हम इसी के बारे में बात करेंगे और समझने का प्रयास करेंगे की IPO क्या होता है (What is IPO in hindi)

IPO kya hai

IPO का फुल फॉर्म INITIAL PUBLIC OFFERING होता है | कम्पनी अपने जीवन काल में कई बार Share जारी करती है औ कुछ शेयर तो ऐसे होते है जिसे कम्पनी कभी issue नहीं करती है | जब कोई कम्पनी अपने जीवन काल में पहली बार शेयर issue करती है तो उसे आईपीओ कहते है |

हालांकि कम्पनी पहली बार शेयर जारी कर रही है इसका कतई यह मतलब नहीं है की कम्पनी नयी ही होगी | बहुत सारी Private Company तो ऐसी है जो कई सालों से चल रही है लेकिन अभी तक उन्होंने अपना IPO जारी नहीं किया है | यहां तक कि इसमें से बहुत सारी कंपनियां तो किसी भी Stock Exchange में लिस्टेड ही नहीं होती है | स्टॉक एक्सचेंज में कोई कंपनी कैसे List होती है या एक अलग विषय है और इसके बारे में हम किसी अन्य पोस्ट में बात करोगे |

इसे भी पढ़ें : Business Tips and Tricks for Success in Hindi 

कोई कम्पनी IPO क्यों लाती है

सवाल तो या भी है कि कोई कम्पनी शेयर issue ही क्यों करती है इसका जवाब है पैसे (Share Capital) इकठ्ठा करने के लिए | कम्पनी को पैसे की जरुरत कई सारे कामो के लिए होती है जैसे

  1. कम्पनी का विस्तार करने के लिए |
  2. नए प्लांट डालने के लिए |
  3. कम्पनी के loan चुकता करने के लिए |
  4. और कभी कभी कर्मचारियों को सैलरी ओंर बोनस देने के लिए |

अब पैसे जुटाने के लिए कम्पनी के पास दो रास्ते होते हैं | पहला या तो वह किसी बैंक या फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस लोन ले या वह शेयर जारी करें | हालांकि सभी कंपनियां थोडा थोडा फण्ड दोनों तरीको से लेती है ताकि कम्पनी पर लोन ले व्याज (Interest on Loan) का भी बहुत अधिक बोझ ना पड़े और कम्पनी में पुराने Shareholders के Ownership भी बहुत अधिक प्रभावित ना हो |

क्योकि अगर कंपनी केवल Loan लेती है तो उसे हर या साल एक निश्चित राशि लोन के ब्याज (Interest on Loan) के रूप में देना पड़ता है दूसरी तरफ अगर कंपनी शेयर जारी करके पैसे उगती है तो कम्पनी के Ownership पर प्रभाव पड़ता है |

यही शेयर, पैसे उगने के लिए जब पहली बार जारी किये जाते है तो उसे IPO कहा जाता है |  

इसे भी पढ़ें : Business kya hai

Image

IPO के लाभ

अभी हमने IPO meaning in Hindi के बारे में जाना | अब हम सबको पता है कि किसी भी काम को करने का कोई कारण होता है तो IPO लाने का क्या कारण होता है, कारण लाभ कमाना | हर कोई बिजनेस लाभ कमाने के लिए ही करता है और जब कोई कंपनी IPO लाती है तो उसका भी उद्देश्य यही होता है |

हालांकि IPO लाने से हर बार कंपनी को लाभ ही हो ऐसा निश्चित नहीं है लेकिन अधिकतर परिस्थितियों में IPO लाने से कंपनी और निवेशकों को लाभ होता है | आइए समझते हैं कि लाभ किस-किस प्रकार से हो सकता है |

IPO से कम्पनी को क्या लाभ है

  1. कंपनी स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर हो जाती है |
  2. एक बार आईपीओ आने के बाद कंपनी कभी भी शेयर इश्यू कर सकती है कंपनी की इमेज बढ़ जाती है |
  3. कंपनी को बिज़नेस बढाने के लिए पूजी मिल जाती है |
  4. कंपनी के प्रति लोगों में विश्वास पैदा होता है |
  5. अधिक पूंजी होने पर कंपनी के प्रबंध मंडल को भी अपना कौशल दिखाने का मौका मिलता है |

IPO से निवेशको को लाभ

  1. कंपनी को सेबी के नियमों के अधीन काम करना पड़ता है जिससे कंपनी में अधिक पारदर्शिता होती है |
  2. कंपनी के Profit and Loss Account और Balance Sheet सार्वजनिक हो जाते हैं जिससे लोगों को कंपनी की वास्तविक स्थिति का पता चलता है |  
  3. IPO आने से Intraday Trading करने वाले निवेशक अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं |
  4. IPO आने के बाद उस कंपनी के शेयर प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट से खरीदे जा सकते हैं |

इसे भी पढ़ें : कपड़े का बिजनेस कैसे शुरू करें

IPO में निवेश करना कितना सही

अभी हमने जब IPO से निवेशको को लाभ के बारे में जाना तो हमने देखा कि IPO आने के बाद से कम्पनी के Books of Account को सार्वजनिक किया जाता है | इसका मतलब की IPO आने तक कम्पनी के Books of Account सार्वजनिक नहीं होते है | ऐसे में बिना जानकारी के किसी भी कम्पनी शेयर में निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है |

हालांकि अधिकतर परिस्थितियों में देखा गया है कि IPO के समय कंपनी के शेयर के दाम बहुत ही कम होते हैं ऐसे में अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं तो आप IPO में निवेश कर सकते हैं इससे आपको लाभ कमाने की संभावना भी होगी और एक नया अनुभव होगा |

IPO में निवेश करते समय किन बातों का ख्याल रखें

शेयर मार्केट में सावधानी ही समाधान है किसी भी IPO का चयन करते समय आपको निम्न बातों को ध्यान रखना चाहिए-

  1. कंपनी के बारे में जो भी छोटी बड़ी जानकारी मिले उसको इकट्ठा करें और उसका परीक्षण करें |
  2. कई कंपनियों के आईपीओ का आपस में तुलना करें |
  3. क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों की रेटिंग को भी ध्यान देना चाहिए |
  4. अपने लिए सबसे बेहतर Share Broker चुने और IPO का चयन करते समय उनकी सलाह जरुर लें |

IPO के प्रकार (Types of IPO)

कोई भी कम्पनी दो प्रकार से IPO जारी कर सकती है ये दोनों तरह के IPO केवल अपने मूल्य के कारण एक दुसरे से अलग होते है |

1. Fix Price IPO

2. Book Building IPO

फिक्स प्राइस आईपीओ (Fix Price IPO)

Fix Price IPO में जारी किये जाने वाले शेयर के दाम पहले से ही निश्चित होते है और कोई भी व्यक्ति जो इन शेयर को खरीदना चाहता है उसे पहले से तय कीमत ही देनी होगी | इन जारी किये जाने वाले शेयर के दाम IPO जारी करने वाली कम्पनी Investment Bank के साथ मिलकर करती है |

बुक बिल्डिंग IPO (Book Building IPO)

Book Building IPO में IPO जारी करने वाली कम्पनी शेयर की एक Minimum Price बताती है और शेयर किस मूल्य पर जारी होंगे इसका निर्धारण Investors द्वारा लगायी जाने वाली सर्वाधिक बोली के आधार पर किया जाता है |

Book Building IPO में price band दो प्रकार के होते है | सबसे ज्यादा लगायी गयी बोली को CAP PRICE और सबसे कम लगायी गयी बोली को FLOOR PRICE कहते है |

समापन

शेयर बाजार की एक सबसे अच्छी सीख यह है कि शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आपको उससे जुड़ी सभी छोटी-बड़ी जानकारियां होनी चाहिए उसी जानकारी को हासिल करते हुए आज हमने इस पोस्ट में जाना कि IPO kya hai , IPO का Full Form, कोई कंपनी IPO क्यों लाती है,आईपीओ के लाभ और IPO में निवेश करते समय आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए |

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर IPO से सम्बंधित कोई अन्य सवाल हो तो भी आप महसे कमेंट बॉक्स में पुच सकते है |

दोस्तों हम इस वेबसाइट में Business Tips, Money making tips, Business ideas, sarkari yojna, Business motivation आदि से सम्बंधित नए नए और बेहतर Content लाते रहते है | अगर आपको हम पोस्ट पसंद आता हो तो आप हमारे ब्लॉग को subscribe करे |

आप हमे हमारे अन्य Social site पर भी Follow कर सकते है –

Facebook Page – https://www.facebook.com/businessjano/

Pinterest – https://www.pinterest.com/businessjano/

Twitter – https://twitter.com/BusinessJano

Others Post:-

CS Full Form: What Is The Full Form Of CS

CMA Full Form: What Is The Full Form Of CMA

CA Full Form: What Is The Full Form Of CA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *