Assets meaning in Hindi
Business Tips

Assets Meaning: एसेट्स क्या होते है ? Assets meaning in Hindi

Assets एक ऐसी चीज है जिसे हर व्यक्ति, कंपनियों, या कोई संस्था ज्यादा से ज्यादा बढ़ाना चाहती है ऐसे में हमें भी Assets meaning in Hindi के बारे में जानना और समझना चाहिए | ऐसे लोग जो Finance या Accounting के क्षेत्र से संबंध रखते हैं उन लोगों Assets का Meaning कुछ हद तक पता है | लेकिन जो लोग इन क्षेत्र से संबंध नहीं रखते हैं ऐसे लोगों के बीच में इस जानकारी का अभाव है |

किसी भी देश का विकास उसकी जनता से होता है और अगर जनता को ही अपने पैसे का सही इस्तेमाल करना नहीं आएगा तो वह देश आगे नहीं बढ़ सकता है इसलिए मेरा मानना है कि हर व्यक्ति को Assets क्या है, Assets meaning in Hindi, Assets कितने प्रकार के होते है आदि के बारे में जानना ही चाहिए | तो चलिए इसे एक एक करके समझते है |

Assets meaning in Hindi

Assets को हिंदी में संपत्ति कहा जाता है | Assets हमारे आर्थिक श्रोत का हिस्सा होता है | हर Assets की एक कीमत होती है जिसे पैसे में पैसे में दर्शाया जा सकता है, जिसकी बाजार में मांग होती है और उसे एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को Transfer भी किया जा सकता है |

अलग-अलग व्यक्ति के लिए Assets की उपयोगिता अलग-अलग होती है जैसे कार बनाने वाली कंपनी के लिए कार बनाने की मशीन या कार Assets है, एक शोरूम के लिए, शोरूम में लगे फर्नीचर, पंखे, एयर कंडीशन आदि Assets है, एक औरत के लिए उसके गहने भी Assets है लेकिन इन सभी के लिए अपने- अपने Assets की उपयोगिता अलग-अलग होती है |

इसे भी पढ़ें : Business kya hai

Types of Assets (सम्पति के प्रकार)

Assets को मुख्या रूप से 2 भाग में बाटा गया है |

1. Non Current Assets

2. Current Assets

इन दोनों प्रकार के एसेट्स आगे कई अन्य प्रकार के Assets में बाटा जाता है | हम यहाँ सभी प्रकार के Assets का meaning एक-एक करके समझेंगे |

Current Assets (चालू संपत्ति)

Current Assets ऐसे Assets को कहा जाता है जिसे 1 Financial Year के अंदर बेच दिया जाता है | ये ऐसी संपत्तियां होती है जिसे कम समय के लिए बनाया या ख़रीदा जाता है | ये Assets ही कम्पनी या किसी लाभ कमाने वाली संस्था के आमदनी का मुख्या श्रोत होती है |

चालू संपत्ति (Current Assets) कई प्रकार के होते है जिन्हें मुख्या रूप से 6 भागों में बाटा गया है –

  1. Current Investment
  2. Inventory
  3. Trade Receivable
  4. Cash and Bank Balance
  5. Short Term loan and Advance
  6. Other Current Assets

तो अब हम इनके बारे में भी एक एक करके समझ लेते है |

इसे भी पढ़ें : 10 Online Business Ideas in Hindi

Image

Current Investment

Current Investment ऐसे Investment होते है जिसे को कम्पनी या संस्था एक साल से कम समय के लिए निवेश करती है और उसे 1 साल के भीतर ही बेच कर पैसे में बदल लेती है | Current Investment कम्पनी के Assets का हिस्सा होता है क्योकि कम्पनी इसे बेच कर पैसे बना सकती है | Current Investment को Balance Sheet के बाएं भाग में Current Assets (चालू संपत्ति) के अन्दर दिखाया जाता है |

Inventory

Inventory कम्पनी के आय का मुख्या श्रोत होता है | Inventory ही वो चीज है जिसे बेचकर कोई कम्पनी या कोई संस्था पैसे कमाती है | Inventory में Goods और Service दोनों को शामिल किया जाता है | Inventory, आसन शब्दों में कहे तो वो सामान या सेवा जिसे कम्पनी बेचती है, उसे कम्पनी या तो खुद बनाती है या तो बना बनाया खरीदती है | अगर कम्पनी खुद बनाती है तो बनाने के लिए कच्छा माल खरीदती है जिसे Raw material कहा जाता है और ये भी Inventory का ही एक हिस्सा होता है |

Trade Receivable

Trade Receivable एक Bill of Exchange होता है जो पैसे के बदले में इस्तेमाल किया जाता है | जब कोई व्यक्ति किसे से माल खरीदता है और पैसे न देकर उसे एक Bill of Exchange देता है जिसमे एक निश्चित राशि निश्चित समय के बाद देने का वादा होता है तो उसे कागज को सामान बेचने वाले व्यक्ति के लिए Trade Receivable कहा जाता है |

Cash and Bank Balance

ये Current Assets का वो हिस्सा होता है जो कि नकद के रूप में या बैंक में रखा हो | नकद राशि को Cash balance और बैंक में रखे पैसे को bank balance कहा जाता है | Cash and Bank Balance सबसे तरल assets होता है यही कारण है की इसे Current Assets माना जाता है |

Short Term loan and Advance

किसी भी कम्पनी के कुल assets का वो हिस्सा जो किसी को लोन देने या किसी दायित्व का भुगतान advance में करने में खर्च किया गया हो उसे भी Current Assets का ही हिस्सा माना जाता है क्युकि भले ही वो खर्चे कुछ दिन बाद देने पड़े लेकिन अभी तक उनके दायित्व अस्तित्व में नहीं आयी होती है |

Other Current Assets

मैंने पहले ही बताया था की assets कई प्रकार के होते है अगर कोई भी Assets ऐसा है जो इन सभी Assets के अंतर्गत नहीं आता है तो उसे Other Current Assets माना जाता है |

इसे भी पढ़ें : कपड़े का बिजनेस कैसे शुरू करें

Non Current Assets

Non Current Asset ऐसे Assets को कहा जाता है जो Current Asset नहीं है या जिसे 1 साल से पहने नहीं बेचा जाता है | Non Current Assets को भी कई अन्य भागों में बता गया है जो इस प्रकार से है |

Fixed Assets

Fixed Assets ऐसे Assets होते है जिसे आसानी से Cash में नहीं बदला जा सकता और जिसकी मदद से कोई कम्पनी अपना बिज़नेस करती है | इस प्रकार के Assets बेचने के लिए नहीं बनाये जाते और जिसे कोई कम्पनी या कोई संस्था कई सालें तक इस्तेमाल करती है जैसे Land, Buliding या किसी Factory में इस्तेमाल किये जाने वाला machine, furniture, कर्मचारियों की लिए safty equipment, आदि |

Non Current Investment

Non Current Investment ऐसे investment होते है जो 1 साल से अधिक के लिए किये जाते है | इस तरह के investment का उद्देश्य long term में पैसे कमाने के साथ-साथ कम्पनी या संस्था की Financial Position को मजबूत करना होता है | जैसे Intellectual Property, Government Bond आदि |  

Long term loan and advance

ऐसे Liability जिसका भुगतान दायित्व अस्तिव में आने से पहले ही कर दिया गया हो और वो भी एक से अधिक साल के लिए उसे Long term loan and advance कहा जाता है | Long term loan and advance, चालू संपत्ति (Current Assets) और दीर्घ कालीन सम्पति (Non Current Assets) दोनों में ही शामिल किये जाते बस देनो में अंतर केवल समय का होता है |

Other non-current assets

ऐसा कोई भी assets जो एक साल से अधिक के लिए ख़रीदा गया हो और जो ऊपर के किसी प्रकार के Assets में नहीं ऑटो हो उसे Other non-current assets में शामिल किया जाता है |

समापन

कोई भी व्यक्ति जो पैसे से पैसा कमाना चाहता है या पैसे को सही जगह invest करना चाहता है तो उसे Assets क्या है Assets meaning in hindi के बारे में जानना ही चाहिए | हर व्यक्ति अपनी मेहनत की कमाई सम्पत्ति (Assets) में invest करता है और अगर उसे सम्पत्ति (Assets) के बारे में पता ही नहीं होगा कि Assets का क्या मतलब (Assets meaning) है तो वो अपने पैसे को सही Assets में कभी भी निवेश नहीं कर सकता |

हालांकि इस पोस्ट में हने सभी प्रकार के Assets के बारे में समझा और मुझे उम्मीद है की आपको ये पोस्ट जरुर पसंद आया होगा | अगर आपको Assets meaning से सम्बंधित कोई और सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है | हम आपके सवालों का जवाब जरुर देंगे |

दोस्तों हम इस वेबसाइट में Business Tips, Money making tips, Business ideas, sarkari yojna, Business motivation आदि से सम्बंधित नए नए और बेहतर Content लाते रहते है | अगर आपको हम पोस्ट पसंद आता हो तो आप हमारे ब्लॉग को subscribe करे |

आप हमे हमारे अन्य Social site पर भी Follow कर सकते है –

Facebook Page – https://www.facebook.com/businessjano/

Pinterest – https://www.pinterest.com/businessjano/

Twitter – https://twitter.com/BusinessJano

Others Post:-

IIT Full Form: What Is The Full Form Of IIT

ITI Full Form: What Is The Full Form Of ITI

What’s your Reaction?
+1
658.6k
+1
255.1k
+1
255
+1
458.8k
+1
14

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *